Error message

  • User warning: The following theme is missing from the file system: global. For information about how to fix this, see the documentation page. in _drupal_trigger_error_with_delayed_logging() (line 1156 of /home/jkheakmr/public_html/hindi/includes/bootstrap.inc).
  • User warning: The following module is missing from the file system: mobilizer. For information about how to fix this, see the documentation page. in _drupal_trigger_error_with_delayed_logging() (line 1156 of /home/jkheakmr/public_html/hindi/includes/bootstrap.inc).
  • User warning: The following module is missing from the file system: global. For information about how to fix this, see the documentation page. in _drupal_trigger_error_with_delayed_logging() (line 1156 of /home/jkheakmr/public_html/hindi/includes/bootstrap.inc).

चेहरे की झाइयों के लिए


चेहरे की झाइयों के लिए

For the wrinkles of face


मसाज से रोगों का उपचार :

परिचय-

चेहरे की झाईयां त्वचा की रौनक को बिगाड़ देती हैं। इसलिए इस बीमारी से बचने के लिए काफी तरीके देखें जा सकते हैं-

  • यदि आप मालिश के साथ-साथ कुछ आयुर्वेदिक उबटन (लेप) आदि भी चेहरे, हाथ-पैर आदि पर लगाएं तो त्वचा कांतिमय अर्थात रौनकदार होती है।
  • यदि त्वचा सूखी होने लगे और हाथ-पैर काले-से लगने लगें तो एक बड़े चम्मच दूध का पॉउडर, एक छोटा चम्मच चने का आटा और दो बड़े चम्मच गुलाबजल को एक साथ मिलाकर लेप तैयार कर लें। इस लेप को चेहरे और हाथ-पैरों पर लगाकर लगभग 20 मिनट के बाद गुनगुने पानी से धोने से चेहरे की झुर्रियों में लाभ मिलता है।
  • चंदन का बुरादा, पीली सरसों, चिरौंजी और हल्दी को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में लेकर एक साथ मिलाकर गुलाबजल मिलाकर गाढ़ा लेप बना लें। फिर इसे चेहरे, हाथ-पैरों पर लगाएं। थोड़ी देर बाद इसे नीचे से ऊपर की ओर धीरे-धीरे रगडें। जब सारा लेप उतर जाए तो हल्की मालिश के बाद स्नान करने से त्वचा साफ और मुलायम हो जाती है।
  • बांहें सुडौल यानी आकर्षक रखने के लिए उचित व्यायाम करें, पर्याप्त जल पीएं, सलाद, ताजे मौसमी फल, सब्जियां लें और संतुलित भोजन करें। स्नान करते समय कोहनियों पर नींबू का रस, खीरा, ककड़ी, टमाटर, आटे का चोकर, बेसन गीला करके लेप करें। रोएंदार तौलिया भिगोकर कोहनियों को रगड़ने से कोहनियां चमकदार हो जाती हैं।
  • आंखों के नीचे की त्वचा पतली और मुलायम होती है। यहां नमी प्रदान करने वाली ग्रंथियां भी नहीं होती। ऐसी कोमल और नाजुक जगह के लिए बादाम युक्त हल्की लेनोलिन क्रीम बेहतर रहती है। बहुत तेज किस्म की क्रीम न लगाएं। बादाम त्वचा को पौष्टिकता प्रदान करता है। लेबोलिन से त्वचा को हल्की चिकनाई मिलती है। इसके अलावा दिन में 3-4 बार आंखों पर कच्चे आलू की पतली फांके काटकर रखें और खीरे के रस में रूई भिगोकर रखें।
  • थोड़ी अरहर की दाल का पॉउडर, दही और पिसी हुई हल्दी को मिलाकर कुछ देर चेहरे पर लगाएं। इस प्रयोग को दिन में 2 से 3 बार दोहराएं। इसको कुछ दिनों तक नियमित रूप से प्रयोग करने से चेहरे की झाईयां समाप्त होती हैं और चेहरा चमकदार होता जाता है।
  • चेहरे की झाईयां दूर करने के लिए पेट का साफ रहना बहुत जरूरी है, सुबह और शाम त्रिफला के चूर्ण की फंकी लेकर ऊपर से गुनगुना दूध पीएं। दिन में पानी खूब पीएं। दिन में 2 बार गुनगुने पानी में नींबू निचोड़कर पीने से भी लाभ मिलता है।
  • बरगद का दूध मुंह पर रोजाना मलने से चेहरे की झाईयां समाप्त हो जाती हैं।
  • 2 चम्मच शहद, 4 बूंदे नींबू का रस, 2 चम्मच दही और 1 चम्मच टैल्कम पॉउडर को खूब अच्छी तरह फेंटकर बनाए गए लेप को मुंह-हाथ और पैरों पर लगाकर 15 मिनट से 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से धोने से चेहरे की झाईयां समाप्त होकर चेहरे पर रौनक आने लगती है।

Tags: Hath pairon ka kala hona, Nimbu ka ras, Pisi hui haldi, Badam, Gulabjal