अमलतास से उपचार

1. त्वचा के चकत्तों : अमलतास के नर्म पत्तों को पीसकर लेप करना चाहिए।
2. चेहरे के दाग : अमलतास के मुलायम पत्तों को पीसकर चेहरे पर लेप करने से चेहरे के सारे काले दाग समाप्त हो जाते हैं।
3. त्वचा से सम्बंधित रोग :अमलतास के पत्तों को सिरके में पीसकर बनाए लेप को चर्म रोगों यानी दाद, खाज-खुजली, फोड़े-फुंसी पर लगाने से रोग दूर होता है। यह प्रयोग कम से कम तीन हफ्ते तक अवश्य करें। अमलतास के पंचांग (पत्ते, छाल, फूल, बीज और जड़) को समान मात्रा में लेकर पानी के साथ पीसकर लेप बना लें। इस लेप को लगाने से त्वचा सम्बंधी उपरोक्त रोगों में लाभ मिलता है।

4. विसर्प छोटी-छोटी फुंसियों का दल बनना: अमलतास के पत्तों को पीसकर घी में मिलाकर लेप करने से विसर्प में लाभ होता है।