आयुर्वेद चिकित्सा

आयुर्वेद चिकित्सा मनुष्य के उन पांचों तत्वों पर कार्य करता है जिससे शरीर का निर्माण होता है और वे पांच तत्व इस प्रकार है- पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और आकाश। इसलिए ही इस चिकित्सा प्रणाली द्वारा उपचार करने पर कोई हानि नहीं होती है।

आयुर्वेद से उपचार करते समय हमें यह भी ज्ञात होना अवश्यक है कि हमारा शरीर कैसा है और इसके किस अंग कि क्रिया ठीक प्रकार से नहीं हो रही है। इसके बाद रोग के जड़ को जानकर उपचार करना चाहिए तथा उचित औषधियों का प्रयोग करना चाहिए तभी रोग ठीक हो पायेगा।

Related links:  Ayurveda  |  Apple  |  Almond

Average: 4 (1 vote)