Diet Tips

Healthy diet tips :

1. पेशाब में जलन : बादाम की 5 गिरी को पानी में भिगो दें। इसके बाद छीलकर इनमें 7 छोटी इलायची और स्वाद के अनुसार मिश्री मिलाकर तथा पीसकर 1 गिलास पानी में घोलकर सुबह-शाम दिन में दो बार पीने पेशाब की जलन में लाभ मिलता है।
2. चेचक : 5 बादाम को पानी में सुबह के समय पीने से चेचक के दाने शीघ्र भर जाते हैं एवं जल्दी ठीक भी हो जाते हैं।  

1. फुन्सियां : अनन्नास का गूदा फुन्सियों पर लगाने से लाभ होता है।
2. मोटापा होने पर : प्रतिदिन अनन्नास खाने से स्थूलता नष्ट होती है, क्योंकि अनन्नास वसा (चर्बी) को नष्ट करता है।
3. अम्लपित्त की विकृति : अनन्नास को छीलकर बारीक-बारीक टुकड़े करके, उनपर कालीमिर्च का चूर्ण डालकर खाने से अम्लपित्त की विकृति नष्ट होती है।

1.आध्यमान (पेट के फूलने) पर : अडूसे की छाल का चूर्ण 10 ग्राम, अजवायन का चूर्ण 2.5 ग्राम और इसमें 8वां हिस्सा सेंधानमक मिलाकर नींबू के रस में खूब खरलकर 1-1 ग्राम की गोलियां बनाकर भोजन के पश्चात 1 से 3 गोली सुबह-शाम सेवन करने से वातजन्य ज्वर आध्मान विशेषकर भोजन करने के बाद पेट का भारी हो जाना, मन्द-मन्द पीड़ा होना दूर होता है। वासा का रस भी प्रयुक्त किया जा सकता है।

1.कील-मुहासें : हल्दी में आक के दूध को मिलाकर कील मुंहासों पर लेप करने से कुछ ही दिनों में लाभ होगा और चेहरे पर चमक आएगी।
2.हिलते हुए दांत निकालना : हिलते हुए दांत की जड़ में एक-दो बूंद आक का दूध लगाने से वह आसानी से निकल जाता है। आक की जड़ के टुकड़े को दुखते हुए दांत से दबाने से दर्द कम हो जाता है।

1. जलोदर (पेट में पानी की अधिकता) :अंकोल की जड़ की छाल लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग तक दिन में 1 से 2 बार तथा साथ ही यवाक्षार का प्रयोग करने से पेशाब आकर पेट साफ साफ हो जाता है।
1. अंकोल की जड़ के चूर्ण को 1.5 से 3 ग्राम तक की मात्रा में दोनों समय देने से यकृत की क्रिया में सुधार होकर जलोदर में लाभ होता है।
1.खुजली : अमर बेल को पीसकर बनाए गए लेप को शरीर के खुजली वाले अंगों पर लगाने से आराम मिलता है।
2.पेट के कीड़े : अमर बेल और मुनक्कों को समान मात्रा में लेकर पानी में उबालकर काढ़ा तैयार कर लें। इस काढ़े को छानकर 3 चम्मच रोजाना सोते समय देने से पेट के कीडे़ नष्ट हो जाते हैं। 
1.स्वर भंग (आवाज के बैठने पर) : अगस्त की पत्तियों के काढ़े से गरारे करने से सूखी खांसी, जीभ का फटना, स्वरभंग तथा कफ के      साथ  रुधिर (खून) के निकलने आदि रोगों में लाभ होता है।

Massage breast after applying betel juice on this part and after that foment on the part consequently, removes swelling and purifies the milk of the breast.

Blood disorders caused by bile are ended by taking cooked vegetable of banana fruits

Give 20 to 40 ml banana juice to the patient twic a day to end blood disorders caused by bile

Pages